रानू मंडल जीवन परिचय – तेरी मेरी कहानी सॉन्ग

रानू मंडल का नाम तो आप सभी ने सुना होगा जिनका गाना “एक प्यार का नगमा है” और “तेरी मेरी कहानी” internet पर काफी वायरल हुआ. रानू मंडल पहले एक लाचार महिला थीं जिनकी ताकत उनकी आवाज़ बनी और आज उनका video लगभग हर किसी ने जरुर देखा होगा. रानू मंडल की मधुर आवाज़ ने देश भर के लोगों का दिल जीत लिया है. जब भी किसी artist का talent internet पर वायरल हो जाता है तब सभी को उस artist के बारे में पूरी बातें जानने की चाह होती है.

इसलिए आज मै आपके लिए रानू मंडल की जीवनी यानि रानू मंडल के बारे में और उनके जीवन से जुडी सारी जानकारी प्रस्तुत करने वाली हूँ जो बहुत ही जल्द bollywood industry में अपना कदम रखने वाली है या यूँ कहूँ की रख चुकीं हैं.

रानू मंडल की जीवनी (Ranu Mondal Biography in Hindi)

Ranu Mondal Jivani Hindi
Ranu Maria Mondal

रातों रात अपनी आवाज के बदौलत स्टार बनी रानू मंडल का जन्म 5 नवम्बर 1960 को पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के कृष्णानगर में हुआ था. रानू मंडल जी का असली नाम है रानू मारिया मंडल. उनका जन्म एक बेहद गरीब परिवार में हुआ और उनके पिताजी आदित्य कुमार एक फेरीवाले का काम किया करते थे. बड़ी मुश्किल से उन्हें दो वक़्त की रोटी नशीब होती थी फिर भी रानू जी को अपने इस हालत से कभी कोई शिकायत नहीं थी. रानू जी को बचपन से ही गाने का शौक था और उनकी पसंदीदा सिंगर लता मंगेशकर, मोहम्मद रफ़ी और मुकेश जी हैं.

रानू मंडल बहुत ही छोटी सी थी जब उनके माता पिता उन्हें दुनिया में अकेला छोड़ चल बसे थे. रानू मंडल बिलकुल अनाथ हो चुकी थी और उनका देखभाल करने वाला भी कोई नहीं था, इसलिए उनके रिश्तेदारों ने 19 साल की उम्र में ही रानू का विवाह बबलू मंडल के साथ कर दिया. बबलू मंडल मुंबई के एक होटल में बतौर chef यानी बावर्ची का काम करता था. रानू भी अपने पति के साथ रहने रानाघाट से मुंबई आई थी.

बबलू और रानू की एक बेटी भी है जिसका नाम साथी रॉय है. पूरा परिवार एक साथ मुंबई के छोटे से घर में खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहे थे. लेकिन दुर्भाग्य से साल 2003 में किसी कारण बबलू मंडल की मृत्यु हो गई. इस घटना से रानू मंडल पूरी तरह से टूट गयी थी. पैसे की आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के वजह से कुछ दिन रानू और उनकी बेटी मुंबई में ही खाने की तलाश में इधर उधर भटक रहे थे. जब उन्हें कोई मदद नहीं मिली तो वापस अपने गाँव रानाघाट लौट गए.

रानू अपनी बेटी को अच्छी परवरिश के लिए अपने रिश्तेदारों के यहाँ छोड़ दिया और खुद इधर उधर भटकती थी. ज्यादातर रानू जी रानाघाट के रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर भीग माँगा करती थी और आते जाते लोग रानू मंडल का गीत सुनकर उन्हें पैसे और खाना देते थे. इन्ही पैसे और खाने से रानू अपना गुजारा करती थी. माँ की ऐसी हालत रानू की बेटी साथी से देखि नहीं गयी इसलिए उसने अपनी माँ से बात करना भी बंद कर दिया था. रानू मंडल के मुताबिक उनकी बेटी ने शर्मिंदगी के वजह से उनसे कोई रिश्ता नहीं रखा. इसी तरह रानू मंडल रानाघाट स्टेशन पर अकेले ही गाना गाते हुए ज़िन्दगी गुजार रही थी.

रानू मंडल जीवनी – रानू मंडल के गायकी का सफ़र

रानू जी का कहना है की जब वो 20 साल की थी तब वो मुंबई के एक लोकल club में गाना गाया करती थी. उस समय लोग उन्हें रानू बॉबी के नाम से बुलाया करते थे. रानू का club में जाकर गाना उनके परिवार वालों को पसंद नहीं था इसलिए उन्होंने club में गाना छोड़ दिया था. पति के निधन के बाद रानू वापस अपने गाँव रानाघाट लौट गई और अपना गुजारा करने के लिए रानाघाट के रेलवे स्टेशन पर बॉलीवुड के पुराने गाने गाती थी. स्टेशन पर आते जाते लोग रानू को गाते देखते थे लेकिन कोई उनकी तरफ ध्यान नहीं देता था.

रानू मंडल स्टोरी – रानू मंडल के ज़िन्दगी का सुनेहरा दिन

रेलवे स्टेशन पर गुजारा करने वाली रानू जब एक दिन गाने गा रही थी तो एक व्यक्ति की नज़र उनके सुरीली आवाज़ के तरफ गयी. उस व्यक्ति ने तुरंत अपना मोबाइल निकाला और रानू जी को गाते हुए उनका video बनाया. उस वक़्त रानू जी लता मंगेशकर का सबसे मशहूर गाना “एक प्यार का नगमा है” गा रही थीं.

जिस व्यक्ति ने उनका video बनाया वो रानाघाट का ही रहने वाला एक software engineer हैं जिनका नाम अतीन्द्र चक्रवर्ती है. इस महान आदमी ने एक गरीब महिला के आवाज़ का video बनाकर अपने Facebook account से उस video को शेयर किया. रातों रात वो video पूरी तरह से वायरल हो गया और रानू जी के मधुर आवाज़ की प्रशंसा आम आदमी से लेकर बड़े बड़े music director और फ़िल्मी सितारें ने भी की.

रानू मंडल हिमेश रेशमियां के संपर्क में कैसे आई?

रानू मंडल के वायरल video की लोकप्रियता के बाद उन्हें Sony Entertainment TV चैनल पर आ रहे रियलिटी शो “Superstar Singer” में guest के रूप में बुलाया गया था. इस शो के host जय भानुशाली ने जब रानू से ये सवाल किया की- आप रेलवे स्टेशन पर गाना क्यों गाती हैं? तब रानू मंडल ने इसका जवाब दिया की- उनके पास घर नहीं है इसलिए वो रेलवे स्टेशन पर ही गाना गाकर अपना गुजारा करती हैं. उनका गाना सुन कर कभी कभी लोग उन्हें पैसे और कुछ खाने को देते हैं उसी से वो अपना पेट भरती हैं.

रानू जी को शो में जब गाने के लिए request किया गया तब उन्होंने वही गाना गया जिस गाने के वजह से उन्हें पूरी दुनिया में पहचान मिली है. उनका गाना सुनकर शो के judges उनसे बहुत प्रभावित हुए. उसी वक़्त हिमेश रेशमियां जी ने रानू को उनकी आने वाली फिल्म “Happy Hardy और Heer” के लिए गाना रिकॉर्ड करने का ऑफर दिया.
उसके कुछ दिनों के बाद ही रानू जी को हिमेश रेशमियां के स्टूडियो में उनके साथ गाना गाते हुए देखा गया.

रानू मंडल ने अपना पहला बॉलीवुड डेब्यू ‘तेरी मेरी कहानी’ गाना रिकॉर्ड किया जिसका video फिर से इन्टरनेट पर वायरल हुआ था. आज रानू मंडल एक ऐसी मशहूर शक्शियत बन गयी हैं जिनसे मिलने के लिए बहुत से बड़े बड़े सेलिब्रिटीज और नेताओं की लाइन लग गई है. रानू मंडल का नया गाना के रिकॉर्डिंग के बाद उन्हें बहुत सारे music directors और musical concerts से गाने के लिए ऑफर मील रहे हैं.

रानू मंडल के बारे में पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न

रानू मंडल के बारे में लोग बहुत कुछ सवाल पूछते है. चलीये ज्यादा पूछे जाने वाले सवालो के बारे में जानते है.

1. रानू का पहला गाना कौन सा है?

वैसे तो रानू जी रानाघाट के रेलवे स्टेशन पर गाने गाते हुए ही अपना जीवन बिता रही थीं लेकिन उनको पहचान ‘एक प्यार का नगमा है’ गाने के वजह से मिली. इसलिए उनका पहला गाना यही है.

2. रानू मंडल का शैक्षिक पृष्ठभूमि (Educational Background of Ranu Mandal)

जैसा की मैंने पहले ही बताया है की रानू जी एक गरीब परिवार की थी इसलिए उनके शैक्षिक पृष्ठभूमि का खुलासा अभी तक नहीं हुआ है लेकिन ऐसा कहा जा रहा है की उन्होंने basic knowledge ग्रहण किया है.

3.रानू मंडल का गाना किस व्यक्ति ने सोशल मीडिया पर अपलोड किया?

रानू मंडल को लता मंगेशकर का गाना ‘एक प्यार का नगमा है’ गाते देख जिस व्यक्ति ने उनका video रिकॉर्ड कर social media पर शेयर किया था वो रानाघाट के रहने वाले Atindra chakraborty हैं. जिनके वजह से रानू जी की किस्मत बदल गयी.

4. क्या रानू मंडल की बेटी ने उन्हें उसके घर से भगा दिया था?

ये सच है की रानू की बेटी को अपनी माँ का रेलवे स्टेशन पर भीख मांगना पसंद नहीं था, इसलिए रानू की बेटी ने उनसे अपना रिश्ता तोड़ दिया था लेकिन इस बात की अभी तक कोई खबर नहीं मिली है की रानू की बेटी ने ही उन्हें उसके घर से निकाला था. रानू और उसकी बेटी के बिच 10 सालों से कोई बात चित नहीं थी. जब रानू एक video के साथ social media सेंसेशन बन गई तो 10 सालों के बाद उनकी बेटी भी वापस उनके पास लौट आई जिससे रानू जी बेहद खुश हैं.

5. रानू मंडल को तेरी मेरी कहानी song से कितने पैसे मिले हैं? (How much Ranu Mandal got money for Teri Meri song)

रानू मंडल जी का गाना तेरी मेरी कहानी आज हर जगह लोग सुन रहे हैं, और साथ ही वो ये भी जानना चाहते हैं की इस गाने से रानू जी को कितने पैसे मिले हैं. तो मै आपको बता दूँ की हिमेश रेशमियां जी ने अपने फिल्म के गाने के लिए रानू जी को चुना था और इस गाने के लिए उन्होंने रानू मंडल को 6 से 7 लाख रुपये दिए हैं लेकिन रानू मंडल ने इस पैसे को लेने से इनकार कर दिया था. उनके इनकार के बावजूद भी हिमेश जी ने उन्हें पैसे दिए और कहा की अब रानू जी को बॉलीवुड में superstar बनाने से कोई नहीं रोक सकता.

6. वो कौन है जिसने रानू मंडल को car गिफ्ट में दिया है? (Who is the man gifted car to Ranu Mandal)

जब कोई व्यक्ति मशहूर हो जाता है तो उसके साथ बहुत सी अफ्वायें भी अक्सर सुनने को मिलती है. बहुत दिनों से एक खबर लोगों के बिच में वायरल हुई है की बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता Salman Khan ने रानू मंडल को car और घर गिफ्ट में दिया है. लेकिन इस खबर में कोई भी सच्चाई नहीं है.

7. रानू मंडल और हिमेश रेशमियां का तेरी मेरी कहानी song डाउनलोड

रानू मंडल के आवाज़ का जादू करोडो लोगों के दिलो में घर कर गया है. रानू जी के नए गाने का trailer देख भारत के सभी लोग बड़ी ही बेसब्री से तेरी मेरी कहानी का full song के लिए इंतज़ार कर रहे हैं. गाने के शौक़ीन रानू मंडल के गाने को जल्द से जल्द अपने मोबाइल में पाना चाहते हैं. इसलिए मै आपको बता देती हूँ की तेरी मेरी कहानी का पूरा गाना gaana.com, saavan.com और youtube पर मिल जायेगा, आप इसके official वेबसाइट पे जाकर गाने को डाउनलोड कर सकते हैं.

8. रानू मंडल किस जाती से बिलोंग करती हैं?

रानू मंडल इसाई धर्म से है और उनकी जाती महिष्य है. यह एक बंगाली हिन्दू वाली जाती है जो मुख्य रूप से खेती करते हैं.

9. रानू मंडल की बेटी ने उन्हें क्यों छोड़ दिया? (Why did Ranu Mandal daughter leave her mother)

रानू मंडल को उनकी बेटी ने शर्मिंदगी की वजह से छोड़ दिया था क्योंकि रानू जी अपना पेट भरने के लिए रेलवे स्टेशन पर गया करती थी जिसके बदले लोग उन्हें पैसे और खाने को देते थे.

10. क्या शाहरुख़ खान ने रानू मंडल की मदद की? (Has Shahrukh Khan helped to Ranu Mandal)

रानू मंडल जिस तरह अपना जीवन बिता रही थी और अचानक लोगों के बिच अपनी पहचान बनाने के बाद, बहुत से लोग उनकी मदद करना चाहते हैं. लेकिन शाहरुख़ खान के तरफ से रानू मंडल की मदद करने की कोई खबर नहीं मिली है.

11. क्या ये सच है की रानू मंडल अतीन्द्र चक्रवर्ती के खिलाफ बोल रही हैं? (Is it true Ranu Mandal telling against Atindra Chakraborty)

ये बिलकुल भी सच नहीं है, अतीन्द्र चक्रवर्ती ही वो शक्श हैं जिसने रानू मंडल की ज़िन्दगी संवार दी और रानू मंडल भी अतीन्द्र को अपना बेटा मानती है तो वो अपने बेटे के खिलाफ कुछ भी कैसे बोल सकती है.

रानू मंडल के रेलवे स्टेशन में गाना गाते हुए video वायरल होने के बाद वो एक बहुत ही बड़ी स्टार बन गयी हैं और साथ ही हम सभी लोगों के लिए एक प्रेरणा भी बन गयी है. उन्हें देख कर हमें यही सिख मिलती है ज़िन्दगी चाहे कितने ही मुश्किल हालातों से क्यों न गुजरे लेकिन अगर आपके पास हुनर है तो दुनिया की कोई भी ताकत आपको कामयाब होने से नहीं रोक सकती. दुनिया में कोई भी कीमती चीज चोरी हो सकती है लेकिन एक हुनर ही ऐसी कीमती चीज है जिसे आपसे कोई भी चुरा नहीं सकता.

मुझे उम्मीद है की आपको ये लेख “रानू मंडल जीवनी (Ranu Mondal Biography in Hindi)” पसंद आएगी. और आपको इनसे ये सिख भी मिली होगी की मंजिल चाहे कितनी भी दूर ही लेकिन हौसला कभी कम नहीं होनी चाहिए, अपने हुनर और खुद पर पूरा भरोसा होना चाहिए क्योंकि आपका हुनर कभी ने कभी अपने सफलता का रंग जरुर दिखाएगी. इस लेख से जुड़े कोई सवाल आपके मन में हों तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं. इस लेख को अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करिये ताकि उन्हें भी रानू मंडल के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here